सपना २३


सपना २३
सारी रात वो फिल्म चलती रही, डम्ब एंड डम्बर – हसी मजाक तो बहुत था, लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा था की मेरे दिमाग में यह फिल्म क्यों चल रही है; फिर सपने में ही सोचने लगा शायद समाचार नहीं देखता अब इसलिए अब सपने भयानक नहीं आते – सुबह टीवी पर खबर चल रही थी दो देशों के युगपुरुष दोनों देशों को फिर से महान बनाने का सपना देखते हैं

4 thoughts on “सपना २३

  1. Very great post. I simply stumbled upon your blog and wanted to say that I have really enjoyed browsing your weblog posts. After all I’ll be subscribing on your feed and I am hoping you write again very soon!

    Like

कुछ कहना चाहोगे ?

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s