सपना ४०

0

“लेकिन यह तो नंगा है भाई !” मुझे नहीं पता की मैं क्यों चिल्ला रहा हूँ “लेकिन यह तो नंगा है भाई ! कहाँ पहना है कुछ ” … मुझे यह भी नहीं पता की क्यों मेरे आस पास खड़े लोग मेरा मुहं बंद करने में लगे है – “चुप हो जा भाई – मरवाएगा यार” — तभी देखता हूँ आसपास “The emperor new clothes ” कहानी की बहुत सी फोटोकॉपी बिखरी पड़ी हैं…. कहानी सचमुच दिलचस्प है – राजा नंगा घूम रहा है लेकिन मंत्री कह रहे हैं – मालिक कमाल के नए कपडे हैं वाह वाह… मंत्री ही नहीं प्रजा भी बोल रही है वाह वाह अद्भुत लगते हो मालिक …. फिर एक बच्चा बोलता है “लेकिन यह तो नंगा है भाई !!”
पर हम सब जानते हैं बच्चे तो बच्चे होते हैं – इनको कहाँ समझ आती है बड़ी बड़ी बातें